Disha Bhoomi

मोदीनगर। बाजारों में लोगों द्वारा बरती जा रही लापरवाही कोरोना संक्रमण की नई चेन बना सकती है। कोरोना से बचाव के लिए बनाए गए नियमों का गंभीरता से पालन नहीं किया जा रहा है। शहर में कोरोना से खौफ से बेपरवाह लोग शारीरिक दूरी की सरेआम धज्जियां उड़ा रहे हैं। माॅस्क पहनने की अनिवार्यता को नहीं समझ रहे हैं।
शहर में कोरोना संक्रमण का सबसे अधिक खतरा बाजार और बैंकों के बाहर जमा होने वाली भीड़ से है। बैंकों के बाहर पैसों के लेनदेन के लिए लोगों को काफी मशक्कत करनी पड़ती है। लोग बैंकों के बाहर एक-दूसरे के साथ लाइन में खड़े हो रहे हैं। हाइवे पर स्थित बैंकों के बाहर यह देखने को मिल रहा है। कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार के बावजूद लोग नियमों को नहीं मान रहे हैं। शासन-प्रशासन से लगातार निर्देश दिए जा रहे हैं, ताकि लोग एक-दूसरे के संपर्क में न आएं, लेकिन फिर भी समस्या देखने को मिल रही है। बेशक कोरोना संक्रमितों के ठीक होने की दर भी अधिक है, मगर इसके नए मामले अब भी आ रहे हैं। इसके बावजूद कई लोग कोरोना से बचाव के लिए निर्धारित नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। बाजार, दुकानों व चैराहों पर नियमों का उल्लंघन हो रहा है।
बाजारों से लेकर सार्वजनिक स्थानों पर लोग बिना माॅस्क पहने बाजार में घूमते देखे जा रहे हैं। शारीरिक दूरी का पालन न कर लोग अपनी जान जोखिम में तो डाल ही रहे हैं, साथ में दूसरों के लिए भी खतरा पैदा कर रहे हैं। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रशासन लगातार लोगों को आगाह कर रहा है। पुलिस प्रशासन भी बिना मास्क के घूम रहे लोगों को समझा रही है। सरकार द्वारा लगातार मास्क का इस्तेमाल करने और उचित दूरी बनाए रखने की अपील समय-समय पर की जा रही है। इसका लोगों के पर असर नहीं हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here