dishabhoomi.com

मोदीनगर तहसील मुख्यालय पर सैकड़ो छात्रों ने राजचोपले को शहीद चौक का दर्जा दिलाए जाने की मांग को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया।छात्र नेता योगेश तिवारी ने बताया की 30 वर्षों से लगातार राज चौपले का नाम बदलकर शहीद चौक बनाए जाने की मांग की जा रही है लेकिन स्थानीय प्रशासन इस और कोई ध्यान नही दे रहा है।इसी क्रम में संपूर्ण समाधान दिवस पर सैकड़ों छात्र तहसील मुख्यालय पहुंचे जहां उन्होंने अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन किया।दरअसल 26 सितंबर 1990 को इसी तारीख को आरक्षण विरोधी आंदोलन के दौरान पुलिस की गोली लगने से 2 छात्रों की मौत हो गई थी तब से क्षेत्र में छात्र संगठन आरक्षण विरोधी काला दिवस मनाते आ रहे हैं।आपको बताते चले 26 सितंबर को छात्र अपनी मांगों को लेकर दिल्ली मेरठ हाईवे बैठ गए थे।सूचना पर पहुंची नायब तहसीलदार कोमल पवार एव अधिशासी अधिकारी शिवराज सिंह छात्रों के बीच पहुंचे थे।जहां उन्होंने जल्द ही राज चौपले को शहीद का दर्जा दिए जाने का आश्वासन दिया था।मंगलवार को सम्पूर्ण समाधान दिवस पर छात्रों ने 10 दिन के भीतर मांग पूरी ना होने पर क्रमिक अनशन पर बैठने की चेतावनी दी है।छात्रों द्वारा अपनी मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपने के दौरान स्थानीय प्रशासन ने जल्द ही समस्या का निस्तारण कराए जाने का आश्वासन दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here