Disha Bhoomi News
Disha Bhoomi News

चौ.चरण सिंह विश्वविद्यालय कैंपस और कॉलेजों में एलएलबी सहित पीजी प्रथम वर्ष में प्रवेश को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने वाले छात्र-छात्राओं ने स्नातक के अंक भरने में गलती कर दी है। गलत अंक भरने से मेरिट में आए छात्रों के प्रवेश पर विवि ने रोक लगा दी है। विवि ने प्रवेश करने से पहले कॉलेजों को छात्रों के हाईस्कूल, इंटर, स्नातक, जाति और भारांक में दर्ज नंबरों की मूल प्रमाण पत्रों से जांच करने के निर्देश दिए हैं। यदि नंबरों में अंतर है तो ऐसे छात्रों के प्रवेश नहीं होंगे। विवि इन छात्रों को संशोधन का मौका देगा। इसके बाद ये छात्र दूसरी मेरिट के लिए अर्ह होंगे।

17 को एडेड कॉलेजों में एमएड की काउंसिलिंग
विवि से संबद्ध एडेड कॉलेजों में एमएड सत्र 2020-22 की काउंसिलिंग 17 दिसंबर को होगी। काउंसिलिंग केवल एक दिन चलेगी। कटऑफ के हिसाब से छात्रों को तय समय पर पहुंचना होगा। विवि के अनुसार अन्य राज्य के 214 अंक तक, सामान्य वर्ग के 203 अंक तक, सामान्य वर्ग-विकलांग में 147 अंक तक पाने वाले छात्रों को सुबह दस बजे कैंपस पहुंचना होगा। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के 173 अंक तक के छात्रों को 12 बजे, 195 अंक तक ओबीसी एवं 186 अंक तक ओबीसी विकलांग छात्रों को एक बजे काउंसिलिंग में आना होगा। 187 अंक तक एससी-एसटी और 191 अंक तक एससी विकलांग छात्रों को तीन बजे आना होगा। काउंसिलिंग के लिए सामान्य वर्ग के छात्रों को सात सौ रुपये का बैंक ड्राफ्ट वित्त अधिकारी चौ.चरण सिंह विवि मेरठ के नाम लाना होगा। छात्रों को पासपोर्ट साइज के पांच फोटो, एमएड प्रवेश परीक्षा की मार्कशीट, एमएड प्रवेश परीक्षा का प्रवेश पत्र, समस्त शैक्षणिक अभिलेख और दस रुपये का स्टाम्प जिस पर कहीं नौकरी नहीं करने, शैक्षणिक काल में कोई अंतराल है तो उसका कारण, वर्तमान में कहीं ट्रेनिंग नहीं करने और उक्त सत्र में कहीं और प्रवेश नहीं करने की घोषणा करनी होगी। छात्र काउंसिलिंग की अधिक जानकारी www.ccsuniversity.ac.in से हासिल कर सकते हैं।

छूट गए प्रैक्टिकल या वायवा तो 21 तक करें आवेदन
इसी वर्ष जून में सेमेस्टर और वार्षिक परीक्षा के ट्रेडिशनल कोर्स में प्रैक्टिकल या वायवा में शामिल होने वाले छात्र अब 21 दिसंबर तक आवेदन कर सकते हैं। वार्षिक परीक्षा में बीएड कोर्स पर यह सुविधा नहीं मिलेगी। विवि के अनुसार वर्ष 2020 में प्रैक्टिकल या वायवा के लिए छात्रों को 15 सौ रुपये की फीस कैंपस स्थित इंडियन बैंक में जमा करनी होगी। आवेदन पत्र कॉलेज से अग्रसारित कराना अनिवार्य होगा। फीस जमा करने के बाद आवेदन पत्र गोपनीय विभाग के काउंटर नंबर 40 पर जमा करना होगा।

2019 से पूर्व के वर्षों के लिए लगेंगे 45 सौ रुपये
मेरठ। 2020 की वार्षिक परीक्षा और सेमेस्टर में 2019 से पूर्व के वर्षों में विभिन्न कारणों से वायवा एवं प्रैक्टिकल में शामिल नहीं होने वाले छात्रों को चार हजार रुपये फीस जमा करनी होगी। विवि के अनुसार ऐसे छात्र कालबाधित की श्रेणी में नहीं होने चाहिए। ये छात्र 45 सौ रुपये की फीस जमा कराते हुए आवेदन गोपनीय विभाग में काउंटर नंबर 40 पर जमा करा दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here