Dishabhoomi news
Dishabhoomi news

श्रीनगरः जम्मू-कश्मीर के नगरोटा में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में चार आतंकियों को मार गिराया है. इस मामले में जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. जेएंडके के डीजीपी ने कहा है कि मारे गए चारों आतंकी पाकिस्तानी थे जो जम्मू-कश्मीर में बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम देने के लिए जा रहे थे.

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बड़ी जानकारी दी कि ये चारों आतंकी पाकिस्तानी थे और इस बात में कोई शक नहीं है. आतंकी सांबा सेक्टर से कश्मीर की तरफ जा रहे थे और जिस ट्रक में इन्हें मार गिराया गया है उसमें भारी मात्रा में एक्सप्लोसिव थे जो किसी बड़ी आतंकी घटना के अंजाम देने के लिए इस्तेमाल होने थे.

दिलबाग सिंह ने कहा है कि काफी दिन से इस बात का इनपुट मिल रहा था कि जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा घाटी में आतंकी वारदातें करने की फिराक में हैं और आज बिलकुल सटीक मौके पर पुलिस ने इनके आतंकियों को मार गिराया है.

दिलबाग सिंह ने कहा कि जैश के चारों आतंकी ट्रक में छिपकर श्रीनगर की तरफ जा रहे थे और इनका मुख्य मकसद आने वाले स्थानीय चुनावों से पहले कई आतंकी घटनाओं को अंजाम देना था. जम्मू के नगरोटा में मारे गए चारों आतंकियों के शव बुरी तरह जल गए हैं और इनकी शिनाख्त करने की कोशिश की जा रही है.

दिलबाग सिंह ने ये भी जानकारी दी कि बम डिफ्यूजल स्क्वॉड और फॉरेंसिक टीमें मुठभेड़ स्थल पर मौजूद हैं और बरामद किए गए सामान की जांच की जा रही है. आतंकी जिस तरह से बड़ी संख्या में गोला-बारूद और विस्फोटक लेकर जा रहे थे, अगर ये मारे नहीं जाते तो किसी बड़ी अनहोनी की संभावना थी. लगातार दो घंटे से ट्रक धू-धूकर जल रहा है और उसमें चावल की बोरियों के अलावा कई और सामान भी मिल रहा है और इसको आइडेंटिफाई करने पर काम चल रहा है.

कैसे हुई मुठभेड़
आज सुबह पांच बजे के करीब मुठभेड़ शुरू हुई थी और इसमें चार आतंकियों को मार गिराया गया है. मुठभेड़ अब खत्म हो गई है, लेकिन सर्च ऑपरेशन जारी है. जम्मू-श्रीनगर हाईवे को बंद कर दिया गया है. सुरक्षाबलों ने दावा किया है कि चार आतंकी ट्रक में छिपे थे और ट्रक में ही उन्हें ढेर कर दिया गया. दोनों ओर से कई राउंड धुआंधार फायरिंग हुई.

फिलहाल सुरक्षाबल ये सुनिश्चित कर रहे हैं कि आतंकियों की संख्या सिर्फ चार थी. इसके लिए न सिर्फ जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर बल्कि इलाके से सटे हुए जगंलों में भी सर्च ऑपरेशन चल रहा है. इससे पहले 31 जनवरी को भी इसी तरह ट्रक से आतंकी आए थे और वो जंगलों में छिप गए थे. हालांकि बाद में सुरक्षाबलों ने उन्हें ढेर कर दिया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here