Gonda
Disha Bhoomi

गोंडा:  आज सत्य संस्था गोंडा द्वारा क्रांतिकारी व देश के प्रति प्राण न्योछावर करने वाले शहीद-ए-आज़म सरदार भगत सिंह की 113वी जयंती पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए परिचर्चा का आयोजन सिविल कोर्ट कम्पाउंड मे किया गया उनके जीवन पर प्रकाश डालते हुये उन्हे श्रद्धांजलि अर्पित की गई जिसकी अध्यक्षता रितेश कुमार यादव व संचालन मंत्री गौरी शंकर चतुर्वेदी ने किया इसी क्रम मे सत्य संस्था के पदाधिकारी श्री धनलाल तिवारी ने कहा की आज के दौर मे लोग चाहते है कि कोई भी क्रांतिकारी हमारे घर मे न हो बल्कि बगल वाले के घर मे पैदा हो आज लोगो की भावना यह हो गई है.

Gonda
Disha Bhoomi

अजय तिवारी ने कहा कि जिस हिसाब से भगत सिंह का योगदान देश के लिये था वह सम्मान आज उनको देश मे नही मिल रहा है, सतेन्द्र वर्क ने कहा साथी की मृत्यु पर वह इतना विचलित हुये कि 12 बर्ष की आयु मे क्रांती की लौ जला डाली, राम बहाल पांडेय ने उनके जीवन पर प्रकाश डाला व अशोक सिंह ने कहा सरकार को शहीदो को नई शिक्षा नीति मे पाठ्यक्रम में शहीदों को शामिल करना चाहिए. जिससे आने वाली पीढ़ी इतिहास के बारे में जानकारी रखें व रमेश गुप्ता जी ने कहा कि सीबीएसई बोर्ड में भी पाठ्यक्रमों में शहीद क्रांतिकारियों का नाम भी शामिल किया जाए, आनंद सिंह ने कहा कि क्रांती की लौ आज भी जलनी चाहिये। इस मौके पर अनिल कुमार पासवान अंकित तिवारी, अरुण कुमार, शशी मोहन श्रीवास्तव, श्रवन सुनील पांडे, अभ्यंकर सिंह, साकेत कुमार मिश्रा, सोनू सिंह, उपेंद्र वर्मा, राम गोपाल पाठक आदि तमाम लोग उपस्थित रहे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here