Disha Bhoomi News
Disha Bhoomi News

श्रमिक कार्ड धारक निर्माण श्रमिकों की बेटियों को कॉलेज आने-जाने के लिए मुफ्त में साइकिल दिए जाएंगे। श्रम विभाग आज 17 श्रमिकों की बेटियों को साइकिल देगा। सरकार की इस योजना का मकसद श्रमिकों के बच्चों को उच्च शिक्षा की पढ़ाई के लिए प्रेरित करना है। उप्र भवन एवं सन्निर्माण कर्मकार बोर्ड द्वारा निर्माण श्रमिकों के लिए संत रविदास शिक्षा सहायता योजना चल रही है। योजना में पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के बेटे-बेटियों को इंटर और स्नातक की पढ़ाई के लिए मुफ्त साइकिल दिया जाना है। सहायक श्रमायुक्त सिद्धार्थ मोदियानी ने बताया कि इस योजना में अभी 17 निर्माण श्रमिकों की पुत्रियों के आवेदन आए हैं। सभी लड़कियों को 16 दिसंबर को विभाग के लोहिया नगर कार्यालय पर साइकिल दिए जाएंगे। मोदियानी ने बताया कि इसका मकसद लड़कियों को उच्च शिक्षा के लिए प्रेरित करना है। साइकिल होने से उन्हें घर से कॉलेज तक आने-जाने में सुविधा होगी। उन्होंने बताया कि संत रविदास गाडसे शिक्षा सहायता योजना में अब पंजीकृत श्रमिकों के बेटे को भी शामिल किया गया है। उन्हें भी हाईस्कूल और इंटर पास होने के बाद अगली कक्षाओं में दाखिला लेने के कागजातों के साथ आवेदन करना होगा। आवेदन के सत्यापन के बाद ही उन्हे पात्र मानते हुए साइकिल दी जाएगी। बता दें कि जनपद में करीब 42 हजार निर्माण श्रमिक पंजीकृत हैं। इनका कार्ड का नियमित नवीनीकरण हुआ है।

चिकित्सा योजना में साढ़े पांच हजार आवेदन का सत्यापन |
श्रम विभाग द्वारा पंजीकृत श्रमिकों के लिए चिकित्सा योजना भी चलाई जा रही है। योजना के तहत करीब पांच हजार श्रमिकों के आवेदन आ चुके हैं। विभाग सभी आवेदनों का सत्यापन कर रहा है। सत्यापन कार्य पूरा होने के बाद सही आवेदकों का इसका लाभ दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here