Disha bhoomi

सरधना : वन कार्यालय के डिप्टी रेंजर की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। मंगलवार शाम वह अपने सरकारी आवास में कमरे में मृत पड़े मिले। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को जांच के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण का पता चल पाएगा।

मूलरूप से बुलंदशहर निवासी 52 वर्षीय लाखन सिंह वर्तमान में परिवार के साथ मोदीनगर में रह रहे थे। वे सरधना वन कार्यालय में डिप्टी रेंजर के पद पर तैनात थे। वन कार्यालय में ही सरकारी आवास बना हुआ है जिसमें वह रहते थे। मंगलवार शाम उनकी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। उनका शव कमरे में ही पड़ा मिला। सूचना मिलते ही थाना पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच पड़ताल की। अन्य कर्मचारियों से भी उनके बारे में जानकारी जुटाई और परिजनों को भी घटना की जानकारी दी। बाद में पुलिस ने शव को पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मौत का कारण पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा। उधर, वन विभाग के कर्मचारियों से बात की गई तो उन्होंने बताया कि पिछले तीन दिन से डिप्टी रेंजर जुकाम और बुखार से पीड़ित थे। मंगलवार को वह दोपहर में दवाई लेकर अपने कमरे में आराम करने चले गए थे। उनकी मौत से स्टॉफ के लोगों और परिजनों में कोहराम मच गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here