DishaBhoomi
DishaBhoomi

प्रोजेक्ट 17ए के तहत जीआरएसई तीन अत्याधुनिक नौसेना शिप का निर्माण कर रहा है। इस प्रोजेक्ट के तहत पहले शिप को सोमवार को लांच किया जाएगा। समुद्र में उतरने के साथ ही इसे व्यापक परीक्षण से गुजरना होगा। इन्हें पास करने के बाद ही इसे नौसेना को सौंपा जाएगा।

रक्षा पीएसयू गार्डेन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स (जीआरएसई) निर्मित फर्स्ट प्रोजेक्ट 17ए स्टील्थ फ्रिगेट को सोमवार को लांच किया जाएगा। यह नौसेना की ताकत में इजाफा करेगी। एक अधिकारी ने बताया चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत समारोह के मुख्य अतिथि होंगे।

जीआरएसई को 17ए प्रोजेक्ट के तहत तीन स्टील्थ फ्रिगेट के निर्माण का ठेका 19,294 करोड़ रुपये में दिया गया है। नौसेना को 2023 में पहला शिप मिलने की उम्मीद है जबकि दो अन्य 2024 और 2025 में सौंपे जाएंगे।

सीडीएस रावत की पत्नी मधुलिका रावत हुगली नदी के तट पर इस शिप का जलावतरण करेंगी। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि पी17ए शिप गाइडेड मिसाइल फ्रिगेट है। हर शिप 149 मीटर लंबा और करीब 6670 टन क्षमता तथा इसकी रफ्तार 28 समुद्री मील है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here