Disha Bhoomi
Disha Bhoomi

आज 30 नवंबर 2020 को साल का आखिरी चंद्र ग्रहण लगने वाला है। इस चंद्र ग्रहण की अवधि चार घंटे 18 मिनट और 11 सेकंड बताई जा रही है। पौराणिक मान्यताओं की माने तो इसे ग्रहों की चाल से जोड़कर देखा जाता है। सोमवार को चंद्र ग्रहण दोपहर 1.04 मिनट पर शुरू होगा।

चार घंटे लंबा चलने वाला यह चंद्र ग्रहण दोपहर 3.13 मिनट पर अपने चरम पर होगा और 5.22 मिनट पर समाप्त हो जाएगा। ये चंद्र ग्रहण बेहद अहम होने वाला है और यह रोहिणी नक्षत्र और वृषभ राशि पर पड़ने वाला है।

वृषभ राशि और रोहिणी नक्षत्र में लगेगा ग्रहण

ज्योतिष गणना के अनुसार, चंद्र ग्रहण वृषभ राशि और रोहिणी नक्षत्र में लगेगा जिसके कारण वृषभ राशि के जातकों पर ग्रहण का सर्वाधिक प्रभाव देखने को मिलेगा। ज्योतिषीय गणना के अनुसार, ग्रहण के दौरान वृषभ राशि के जातकों को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है।

गर्भवती महिलाएं रखें विशेष सावधानी

ग्रहण काल में गर्भवती महिलाओं के लिए अधिक विचार किया जाता है। माना जाता है कि ग्रहण के हानिकारक प्रभाव से गर्भ में पल रहे शिशु के शरीर पर उसका नकारात्मक असर होता है। इसलिए गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान बाहर नहीं निकलने की सलाह दी जाती है।

इस चंद्र ग्रहण को ऑस्ट्रेलिया, एशिया, प्रशांत महासागर और अमेरिका के कुछ हिस्सों में देखा जा सकता है। हालांकि ये चंद्र ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा लेकिन इसका प्रभाव जरूर पड़ेगा। वहीं चंद्र ग्रहण से शुरू होने से पहले सूतक लग जाता है लेकिन इस बार यह उपछाया ग्रहण है, इसलिए इस दौरान इसका सूतक काल मान्य नहीं होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here