Disha Bhoomi
Disha Bhoomi

ट्राइजेमिनल न्यूरेल्जिया एक दुर्लभ न्यूरोलॉजिकल बीमारी है, जिसका इलाज अभी तक ऑपरेशन द्वारा सिर्फ बड़े शहरों में उपलब्ध था। अब उसका ईलाज मोदीनगर शहर में भी उपलब्ध। ऊषा सुपरस्पेशलिटी क्लीनिक के डॉ0 नवनीत गुप्ता ने रेडियो. फ्रीक्वेंसी विधी द्वारा मात्र 30 मिनटों में मरीज को दर्द से निजात दिला दी।

डाॅ0 नवनीत गुप्ता ने बताया कि ट्राइजेमिनल न्यूरेल्जिया एक क्रोनिक पैन कंडीशन है और 1 लाख में से 5 लोगों में देखने को मिलती है। इस बीमारी में मरीज को दर्द के साथ चेहरे पर बिजली के झटके जैसा महसूस होता है। यह बीमारी सिर में स्थित ट्राइजेमिनल नर्व को प्रभावित करती है। मोदीनगर स्थित डॉ0 नवनीत गुप्ता के पेन मेडिसिन क्लीनिक में (65) वर्षीय महिला गत शनिवार को दिखाने आई। वह पिछले 4 वर्षों से चेहरे के बांई तरफ बिजली के झटके जैसे असहनीय दर्द से जूझ रही थी। ऐसे में डॉ0 नवनीत गुप्ता ने एमआरआई जांच कराकर ट्राइजेमिनल न्यूरेल्जिया बीमारी की पुष्टि की। 27 जुलाई को चिकित्सक डॉ0 नवनीत गुप्ता ने मिनिमली इनवेसिव पेन इंटरवेंशन द्वारा हॉस्पिटल में रेडियो, फ्रीक्वेंसी विधी से सफल इलाज किया।

डाॅ0 ने बताया कि एक्स-रे में देखते हुए सुईं द्वारा ट्राइजेमिनल नर्व के गैंगलियन का रेडियो, फ्रीक्वेंसी एबलेशन किया गया। करीब 30 मिनट की प्रक्रिया से मरीज को दर्द से राहत मिल गई। मात्र 4 घंटे बाद मरीज को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया। डॉ0 नवनीत गुप्ता ने बताया कि यह बीमारी दो तरह की होती है। टाइप 1 और टाइप 2, टाइप 1 में थोड़ी थोड़ी देर में दर्द व जलन होती है और टाइप 2 में लगातार दर्द, जलन बनी रहती है। इसका इलाज बलून कंप्रेशन, रेडियो, फ्रीक्वेंसी एबलेशन व ऑपरेशन द्वारा किया जाता है। डॉ0 नवनीत ने रेडियो- फ्रीक्वेंसी एबलेशन द्वारा मरीज का सफल इलाज किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here