Disha bhomi

गाजियाबाद : शहजादपुर गांव (मुरादनगर) के सरकारी स्कूल की विज्ञान की शिक्षिका डॉ. ममता खन्ना बच्चों में विज्ञान की जिज्ञासा के पंख लगा रहीं हैं। ममता की कोशिश से दो बार इस स्कूल के बच्चे जनपद के नामी निजी स्कूलों को विज्ञान माडल प्रतियोगिता में मात देकर प्रथम स्थान प्राप्त कर चुके हैं।

वसुंधरा निवासी डॉ. ममता खन्ना की पहली नियुक्ति विज्ञान शिक्षिका के तौर पर बिजनौर जिले के सरकारी स्कूल में हुई थी। साल 2012 में उनका तबादला शहजादपुर गांव स्थित स्कूल में हुआ। जब वह शहजादपुर आई तो स्कूल में बच्चों की संख्या 30-35 थी। उन्होंने सबसे पहले शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार कर बच्चों की संख्या बढ़ाने पर बल दिया। शिक्षा समेत विभिन्न क्षेत्रों में बच्चों के हुनर को निखारने में उन्होंने खूब मेहनत की। जिस वजह से आज बच्चों की संख्या 74 तक पहुंच गई है। काफी संख्या में अभिभावकों ने बच्चों के निजी स्कूल से नाम कटवाकर उनके स्कूल में दाखिला दिलाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here