dishabhoomi.com
dishabhoomi.com

गाजियाबाद। जाम मुक्त त्योहार संपन्न कराने के पुलिस के दावों की सोमवार को पोल खुल गई। भाई दूज पर पुलिस की बदइंतजामी ने लोगों को रुला दिया। जिले में चौरतफा लगे भीषण जाम में लोग बिलबिला उठे। दिल्ली-मेरठ हाईवे पर मोरटा से मोहिउद्दीनपुर तक करीब 30 किलोमीटर लंबा जाम लग गया। यहां शहर में भी हर मुख्य मार्गों के अलावा तिराहे-चौराहे चोक हो गए। हालात यह रहे कि लोगों को पैदल निकलने में भी मशक्कत करनी पड़ी। ट्रैफिक सुचारु करने के नाम पर यातायात पुलिस हाथ-पांव पीटती नजर आई।
त्योहारी सीजन अपराध व जाम मुक्त संपन्न कराने के लिए पुलिस अधिकारियों ने कार्ययोजना तैयार करते हुए तमाम दावे किए थे। दिवाली व धनतेरस पर शहर में जाम की विकट स्थिति देखने को मिली तो सोमवार को भाई दूज पर दिन निकलते ही पूरे जिले में वाहन सड़कों पर फंस गए। वाहनों की अधिकता के कारण सोमवार सुबह से ही जाम लगना शुरू हो गया। कुछ ही देर में वाहनों की लंबी कतार लगनी शुरू हो गई। जाम न लगे इसके लिए हाईवे पर प्रत्येक कट पर पुलिसकर्मी तैनात किए गए थे लेकिन वाहनों के दबाव के आगे सारे इंतजाम धराशाई हो गए। मोरटा से लेकर मोहिउददीनपुर तक सुबह से लगे जाम के कारण मोदीनगर, मुरादनगर में वाहनों की करीब 30 किमी लंबी कतार लग गई। हाईवे पर वाहन रेंग-रेंगकर चले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here