disha bhoomi
disha bhoomi

Modinagar। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने दसवीं और 12वीं कक्षा के सत्र-22 की बोर्ड परीक्षाओं की तिथि निर्धारित कर दी है। इस घोषणा के बाद तहसील क्षेत्र के दर्जनों स्कूलों में परीक्षा को लेकर विशेष तैयारियां शुरू हो गई हैं। स्कूलों ने दोनों कक्षाओं के छात्र-छात्राओं का पाठ्यक्रम पूरा कराने पर जोर देना शुरू कर दिया है। सत्र.-22 की परीक्षाएं 26 अप्रैल से आयोजित हो रही हैं।
गोविन्दपुरी स्थित छाया पब्लिक स्कूल के प्रशासनिक अधिकारी व निदेशक डाॅ0 अरूण त्यागी ने बताया कि सीबीएसई की सत्र-22 की परीक्षा इस बार बहुविकल्पीय के बजाय व्याख्यात्मक होंगी। साथ ही इस बार स्वकेंद्र प्रणाली को भी खत्म कर दिया गया है। सीबीएसई की परीक्षाएं सेमेस्टर बेस्ड हो रही हैै। सत्र-21 की परीक्षा बहुविकल्पीय स्वरूप पर हुई थी। लंबे समय बाद स्कूल खुलने के कारण बोर्ड ने सत्र-21 की बोर्ड परीक्षा के दौरान सभी छात्रों को अपने ही स्कूल में परीक्षा देने की छूट प्रदान की थी। हालांकि उन स्कूलों का केंद्र दूसरे स्कूलों में बनाया गया था, जहां पर इंटरनेट और दूसरी सुविधाओं की दिक्कत थी। सत्र-22 की बोर्ड परीक्षाओं में यह सुविधा खत्म कर दी गई है। सत्र-21 में परीक्षा केंद्रों के चयन की जिम्मेदारी जिला स्तर के अधिकारियों के पास थी लेकिन, इस बार बोर्ड स्वयं केंद्रों का निर्धारण करेगा।
प्री-बोर्ड परीक्षा से निखरेंगे छात्र-छात्राएं
डाॅ0 अरूण त्यागी ने बताया कि सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं में छात्र-छात्राओं को प्रश्नपत्र हल करने में कोई दिक्कत न हो और सत्र-22 के लिए उनकी तैयारी बेहतर बनाने के लिए स्कूलों ने प्री-बोर्ड परीक्षाएं शुरू कराने की तैयारी शुरू कर दी है। इन परीक्षाओं से विद्यार्थियों के शैक्षिक मूल्यांकन का पता लगाने के साथ ही उनकी शंकाओं को भी दूर किया जाएगा। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते करीब 38 दिनों तक स्कूल बंद रहे थे। हालांकि इस दौरान आनलाइन पढ़ाई जारी रही। परीक्षा के दौरान कोरोना नियमों का होगा पालन
सीबीएसई सत्र-22 की परीक्षा के दौरान कोरोना के नियमों का भी पालन कराया जाएगा। बोर्ड परीक्षाओं में हजारों की संख्या में परीक्षार्थी शामिल होंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here