dishabhoomi.com
dishabhoomi.com

मोदीनगर। बंदरों के आतंक को लेकर पालिका प्रशासन गंभीर नजर नही आ रहा है। जिस कारण प्रतिदिन कोई ना कोई बंदरों के हमले का शिकार हो रहा है। शनिवार को बंदरों के हमले से एक वृद्व महिला बुरी तरह घायल हो गई ओर उसका एक हाथ टूट गया।
गोविन्दपुरी की सुचेतापुरी काॅलोनी निवासी पुष्पा काण्डपाल पत्नी हरीदत्त काण्डपाल काॅलोनी में ही स्थित बालाजी मंदिर से पूजा अर्चना कर वापस लौट रही थी, कि इसी बीच बंदरों के झुण्ड ने उन पर हमला बोल दिया। बंदरों के हमले से करीब (65) वर्षीय पुष्पा देवी बुरी तरह घायल हो गई। बंदरों ने पुष्पा देवी को कई जगह से काट लिया, बचाव के चक्कर में उनके एक हाथ की हड्डी भी बुरी तरह टूट गई। परिजनों ने उन्हें एक नीजी अस्पताल में भर्ती कराया है। जंहा उनका उपचार चल रहा है।
बताते चले कि बंदरों के आतंक से निजात की मांग को लेकर रानी लक्ष्मी बाई महिला फाउंडेशन की अध्यक्ष कुसुम सोनी व विभिन्न सामाजिक संगठन गतदिनों पूर्व मिलकर नगर पालिका गेट पर क्रमिक अनशन भी कर चुके है। पालिका प्रशासन ने बंदरों से निजात दिलायें जाने को तीन माह का समय निर्धारित किया था। लोगों में बंदरों के हमलों को लेकर गहरी नाराजगी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here