Disha Bhoomi
Disha Bhoomi

Ghaziabad : शहीद स्थल से दिलशाद गार्डन मेट्रो स्टेशन की तरह यात्रियों को रैपिड रेल कॉरिडोर में भी पार्किंग की समस्या नहीं झेलनी होगी। रैपिड के गाजियाबाद खंड में आने वाले छह स्टेशनों पर यात्रियों को पार्किंग की सुविधा मिलेगी। पार्किंग की व्यवस्था रैपिड स्टेशन के 200 मीटर की परिधि के अंदर होगी। गाजियाबाद विकास प्राधिकरण ने सभी रैपिड स्टेशन के पास जमीन चिह्नित कर दी है। एनसीआरटीसी को पार्किंग की इस जमीन की खरीद करनी होगी।
मोदीनगर नार्थ में होगी सबसे बड़ी पार्किंग
रैपिड के साहिबाबाद से दुहाई तक 17 किमी लंबे प्राथमिकता खंड में डिपो मिलाकर कुल पांच और फिर दूसरे फेज में गाजियाबाद खंड में कुल तीन स्टेशन शामिल है। गाजियाबाद में रैपिड की सबसे बड़ी वाहनों की पार्किंग मोदीनगर नॉर्थ स्टेशन पर होगी। यहां पार्किंग के लिए 3500 वर्ग मीटर जमीन चिह्नित की गई है। बाकी मेरठ रोड तिराहा, गुलधर, दुहाई, मुरादनगर, मोदीनगर साउथ में 2000 वर्ग मीटर जमीन पार्किंग के लिए निर्धारित की गई है। ऐसे में मार्च 2023 तक स्टेशनों का काम पूरा होने के साथ ही पार्किंग के निर्माण संबंधी प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। बता दें कि मेट्रो के रेड लाइन पर केवल हिंडन रिवर बैंक स्टेशन में पर ही पार्किंग की सुविधा है।

60 से 100 वाहन हो सकेंगे पार्क
रैपिड स्टेशनों के बराबर बनने वाली पांच पार्किंग में 60-60 चार पहिया और 100 दो पहिया वाहनों के पार्क करने की सुविधा होगी। दूसरी ओर मोदीनगर नार्थ पार्किंग में 100 चार पहिया और उतने ही दो पहिया वाहनों को पार्क किया जा सकेगा। स्टेशन में ही पार्किंग की व्यवस्था होने से सबसे ज्यादा लाभ दिल्ली व एनसीआर आने जाने वाले कामगार लोगों को मिलेगा। लोग बगैर किसी चिंता के अपने वाहनों को पार्क कर आगे का सफर तय कर सकेंगे।
12 किमी एलिवेटेड ट्रैक व स्टेशनों का 65 फीसदी काम पूरा
रैपिड के पहले खंड में 17 में से करीब 12 किमी का एलिवेटेड ट्रैक तैयार हो चुका है। ट्रैक पर पटरियों को बिछाने का काम जारी है। रैपिड के प्राथमिकता खंड में आने वाले स्टेशनों का 50 से 65 फीसदी काम पूरा हो चुका है। गाजियाबाद खंड के बाकी स्टेशनों का काम तेज गति से जारी है। बाकी दुहाई स्टेशन में यार्ड, प्रशासनिक भवन, ट्रायल ट्रैक व अन्य सुविधाओं को विकसित करने के कार्य ने गति पकड़ ली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here