Disha bhoomi

गाजियाबाद यह सिर्फ मुंहबोली भतीजी का ही नहीं रिश्ते-नाते, विश्वास और भरोसे का भी कत्ल है। दोस्त से बदला लेने के लिए उसकी ढाई साल की मासूम बेटी की मुंहबोले चाचा ने दुष्कर्म के बाद गला घोंटकर हत्या कर दी। ऐसा करते समय न तो उसे अपनी 18 साल पुरानी दोस्ती की याद आई न ही उसको ये ख्याल आया कि जिसकी वह जान ले रहा है, वह प्यार से उसे चाचा बुलाती थी, उसकी गोद में खेलती थी।

मूलरूप से बिहार निवासी पीड़ित पिता करीब ढाई साल से कविनगर थानाक्षेत्र के गांव में रहता है। वह कविनगर इंडस्ट्रियल एरिया स्थित एक लोहा फैक्टरी में ढलाई का काम करता है। जिला मोतिहारी, बिहार निवासी चंदन करीब दस वर्षों से उसका जिगरी दोस्त था और उसी के साथ फैक्टरी में काम करता है। बच्ची की मां के मुताबिक उसका पति सोमवार रात करीब आठ बजे चंदन व दो अन्य लोगों के साथ शराब पी रहा था। वह पति को डांटकर कमरे में चली गई। करीब साढ़े आठ बजे चंदन कमरे में आया और बेटी को यह कहकर अपने साथ ले गया कि बच्ची के पिता ने उसे बुलाया है। थोड़ी देर बाद सभी लोग चले गए। पति को अकेला देख उसने बच्ची के बारे में पूछा तो उसने जानकारी होने से इंकार कर दिया। मां का कहना है कि उसने चंदन द्वारा बेटी के ले जाने की बात कही तो चंदन की तलाश शुरू की गई। चंदन और बेटी का पता न लगने पर पीड़ित पिता ने पुलिस को सूचना दी।

कविनगर थानाक्षेत्र में सोमवार रात फैक्टरी कर्मी की ढाई वर्षीय बेटी को अगवा कर दुष्कर्म के बाद मौत के घाट उतार दिया गया। घटना को फैक्टरी कर्मी के ही जिगरी दोस्त चंदन ने अंजाम दिया। परिजनों के शक जताने पर पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया, लेकिन वह पुलिस को गुमराह करता रहा। बुधवार को सीसीटीवी कैमरे में आरोपी बच्ची के साथ दिखा और फिर कविनगर इंडस्ट्रियल एरिया में नाले किनारे झाड़ियों में बच्ची का शव मिलने पर पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो चंदन ने जुर्म कबूल लिया। पुलिस ने परिजनों की तहरीर के आधार पर हत्या, दुष्कर्म व पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस को कर रहा था गुमराह, कैमरे ने खोला राज :
लोगों का कहना है कि उन्होंने सोमवार रात करीब 12 बजे चंदन को संदिग्ध हालात में घूमते हुए पकड़ लिया था। पुलिस ने उससे बच्ची के बारे में पूछा तो उसने जानकारी होने से इंकार कर दिया। मंगलवार दोपहर करीब साढ़े 12 बजे बच्ची का शव कविनगर इंडस्ट्रियल एरिया में बीयर कंपनी के पास झाड़ियों में पड़ा मिला। इसके अलावा सीसीटीवी कैमरे में भी चंदन बच्ची को ले जाते हुए दिखा। इसके बाद पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो चंदन ने जुर्म कबूल कर लिया।
डेढ़ साल पहले हुई मारपीट का बदला लेने को की वारदात :
हत्यारोपी चंदन ने पूछताछ में बताया कि करीब डेढ़ साल पहले दोस्त ने उसके साथ मारपीट की थी। इस बात की वह मन ही मन रंजिश मानता था। सोमवार रात शराब पीने के दौरान दोस्त की पत्नी ने भी बुरा-भला कहा तो वह तैश में आ गया। वह बहाने से दोस्त की बच्ची को सुनसान इलाके में ले गया और दुष्कर्म के बाद गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। चंदन ने निजी विवाद के चलते हत्या को अंजाम देने की बात कबूली। हालांकि बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना से उसने इंकार किया।
जिसे चाचा कहती थी, उसी ने मौत की नींद सुला दिया :
पीड़ित फैक्टरी कर्मी के परिवार में पत्नी के अलावा चार वर्षीय बेटा व ढाई वर्षीय बेटी थे। परिजनों के मुताबिक बच्ची के पिता और हत्यारोपी में गहरी दोस्ती थी। बच्ची की मां का कहना है कि उसकी शादी के पहले से चंदन उसके पति का दोस्त है। चंदन उसके पति को भैया कहता था। वह बच्चों का मुंहबोला चाचा बन गया था। लेकिन किसी को यह पता नहीं था कि मासूम बेटी जिसे चाचा कहती थी, वह ही उसे मौत की नींद सुला देगा।
वर्जन ……
पिता के पास ले जाने की बात कहकर हत्यारोपी चंदन बच्ची को अपने साथ ले गया और सुनसान इलाके में ले जाकर उसकी हत्या कर दी। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगामी कार्रवाई की जाएगी। बच्ची के परिजनों की तहरीर के आधार पर दुष्कर्म, हत्या व पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया गया है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here