Disha bhoomi

गाजियाबाद : सेक्स रैकेट के पर्दाफाश में शिकायत करने वाली महिला बृहस्पतिवार की सुबह सीओ द्वितीय अवनीश कुमार के खिलाफ एसएसपी कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गई। पीड़िता का कहना है कि सीओ ने उन्हें गिरोह का हिस्सा बता दिया, जबकि सीओ का कहना है कि उन्होंने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है। वहीं, सीओ क्राइम आलोक दुबे ने महिला को समझा-बुझाकर शांत कराया।

सिहानी गेट थाना पुलिस ने बुधवार को दिल्ली से संचालित सेक्स रैकेट का पर्दाफाश कर दो महिला समेत पांच आरोपितों को गिरफ्तार किया था। आरोप था कि आमीन ने खुद को हिदू बता पीड़िता को उसके भाई की नौकरी लगाने का झांसा दे बुलाया और गन प्वाइंट पर दुष्कर्म किया था। पीड़िता को बंधक बना आरोपित तीन साल से देह व्यापार करा रहा था। लोनी के विधायक नंद किशोर गुर्जर से संपर्क कर पीड़िता ने बताया था कि आरोपित अब धर्म परिवर्तन का दबाव बना रहा है। विधायक ने पीड़िता को मुक्त कराया और फिर पुलिस ने बुधवार को रैकेट का पर्दाफाश किया। पीड़िता का कहना है कि सीओ द्वितीय ने उन्हें गिरोह का हिस्सा बता दिया। इच्छा मृत्यु की मांग को लेकर बृहस्पतिवार सुबह पीड़िता एसएसपी कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गई। उधर, सीओ ने पीड़िता के आरोपों से इन्कार कर बताया कि उन्होंने पीड़िता के मुख्य आरोपित से पूर्व में संबंध होने की बात कही थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here